अस्पतालों में मेडिसिन की न हो कमी, चिकित्सा अधिकारी और चिकित्सा अधीक्षक रहे अलर्ट | There should be no shortage of medicine in hospitals, medical officers and medical superintendents were alert


लखनऊ3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने सरकारी अस्पतालों में दवाओं की उपलब्धता को लेकर गुरुवार को अहम दिशा निर्देश जारी किए।

डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने गुरुवार को प्रदेशभर के सीएमओ और सीएमएस को निर्देशित किया कि वायरल, डेंगू, चिकनगुनिया समेत अन्य बुखार से निपटने के लिए डाक्टर व पैरामेडिकल स्टाफ की टीम 24 घंटे चिकित्सालय में मुस्तैद रहे ।

चिकित्सालयों में दवाओं की कमी न होने दें। ओपीडी व भर्ती रोगियों को चिकित्सालय से ही दवाएं दी जाएं। अधिकारी समय-समय पर दवा स्टोर में स्टॉक चेक करें।उन्होंने निर्देशित किया कि चिकित्सालय में पर्याप्त एंटीबायोटिक व बुखार के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवाओं का इंतजाम करें।

दिल- शुगर की दवाओं की करे व्यवस्था

डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने कहा कि दिल, शुगर व ब्लड प्रेशर की दवाओं का स्टाक जुटा लें। इमरजेंसी में दवाओं की कमी न होने दें। मरीजों को कम से कम 15 दिन या इससे अधिक दिन की दवाएं दें। जिससे मरीजों को जल्दी-जल्दी चिकित्सालय के चक्कर न लगाने पड़े। उन्होंने कहा कि कारपोरेशन को अस्पतालों की जरूरत के हिसाब से 6 माह की दवाएं उपलब्ध कराने के लिए कहा है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Comment