​​​​​​​दनाक्षरी ग्राम पंचायत में वार्ड पंच का चुनाव, 12 बजे तक 44 फीसदी मतदान | Election of Ward Punch in Danakshari Gram Panchayat, 44 percent polling till 12 noon


बांसवाड़ा24 मिनट पहले

दनाक्षरी के पोलिंग बूथ में स्कूल के बाहर लगी वाेटर्स की कतारें।

बीमार उपसरपंच की मौत के बाद से रिक्त सीट को लेकर शुक्रवार को ग्राम पंचायत दनाक्षरी में वार्ड पंच को लेकर मतदान हुआ। वार्ड नंबर 1 के वार्ड पंच चुनने के लिए लोगों ने एक साल का इंतजार किया। सुबह के समय से ही बूथ के बाहर वोटर्स की कतारें लगी रही। दोपहर 12 बजे तक यहां 44 फीसदी मतदान हुआ। मतदान शाम 5 बजे तक चलेगा। लेकिन, इस बीच किसी तरह के विवाद की सूचना नहीं है। वार्ड पंच का ये चुनाव इसलिए महत्वपूर्ण माना जा रहा है कि तत्कालीन उपसरपंच ग्राम पंचायत के पूर्व सरपंच रामचंद्र (कांग्रेस विचाराधारा) का समर्थक था। ऐसे में पूर्व सरपंच इस सीट पर खुद के केंडीडेट को जीताकर अपना उपसरपंच फिर से बनाने में लगे हैं, जबकि वर्तमान सरपंच कालू मईड़ा इस सीट पर खुद का केंडिडेट जीताना चाहते हैं।

निर्वाचन विभाग की ओर से मौजूद जिम्मेदार।

ग्राम पंचायत दनाक्षरी पर एक नजर
कुल वार्ड: 9
कुल मतदाता : 329
12 बजे तक मतदान किया : 145

चुनावी मैदान में इनके बीच मुकाबला : चोखली V/S देवीलाल

चुनाव मैदान में उम्मीदवार चोखली।

चुनाव मैदान में उम्मीदवार चोखली।

किस्मत की गोटी से रक्मा बने थे उपसरपंच
ग्राम पंचायत चुनाव में सरपंच चुने जाने के बाद वार्ड पंचों के स्तर पर उप सरपंच चुनने की बारी आई। तब पूर्व उपसरपंच रामचंद्र के नजदीकी वार्ड पंच रक्मा राणा (मृतक) के समर्थन में कुल 9 में से 5 वोट पड़े थे। जबकि, वर्तमान सरपंच के केंडिडेट के फेवर में चार वोट पड़े थे। चूंकि यहां सरपंच को एक मत अलग से करने का अधिकार होता है। इसलिए वर्तमान सरपंच की वोटिंग से मुकाबला 5-5 पर आ गया था। तब उपसरपंच पद के लिए गोटी सिस्टम हुआ। इसमें भी रक्मा राणा की जीत हुई थी। उपसरपंच रक्मा राणा लंबे समय से बीमार थे, जिनकी एक साल पहले मौत हो गई थी। वार्ड पंच के रिक्त पद के कारण यहां उपसरपंच का पद रिक्त चल रहा था।

चुनावी मैदान में देवीलाल।

चुनावी मैदान में देवीलाल।

मतदान के लिए बूथ तक पहुंची जरूरतमंद महिला।

मतदान के लिए बूथ तक पहुंची जरूरतमंद महिला।

कंटेंट : किशन सेन (छोटी सरवन)

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Comment