प्रयागराज में शुरू हुआ पुरुष नसबंदी पखवाड़ा, आशा कार्यकर्ताओं और एएनएम को दिया गया लक्ष्य | 10 men will be sterilized in each block Vasectomy fortnight started in Prayagraj, target given to Asha workers and ANMs The state government is constantly trying to stabilize the population. Whereas Prayagraj


  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Prayagraj
  • 10 Men Will Be Sterilized In Each Block Vasectomy Fortnight Started In Prayagraj, Target Given To Asha Workers And ANMs The State Government Is Constantly Trying To Stabilize The Population. Whereas Prayagraj

प्रयागराज26 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

जनसंख्या स्थिरीकरण के लिए प्रदेश सरकार लगातार प्रयासरत है। वहीं प्रयागराज के पुरुष इसके प्रति बेहद सचेत हैं। तभी तो पिछले छह वर्ष से पूरे प्रदेश में पुरुष नसबंदी के मामले में प्रयागराज शीर्ष पर रहा है। इसी क्रम में 21 नवंबर से जनपद में पुरुष नसबंदी पखवाड़ा के पहले चरण की शुरुआत हो चुकी है। पखवाड़ा के अंतर्गत अपनी भूमिका दर्ज कराते हुए परिवार पूरा कर चुके पुरुष अपनी नसबंदी करा सकता है।

पुरुष नसबंदी पखवाड़ा का पहला चरण 21 नवंबर से 27 नवंबर तक चलेगा। इस वर्ष “अब पुरुष निभाएंगे ज़िम्मेदारी, परिवार नियोजन अपनाकर दिखाएंगे अपनी जिम्मेदारी” थीम पर पखवाड़ा शुरू हुआ। प्रत्येक ब्लॉक में कम से कम 10 पुरुषाें की नसबंदी कराने का लक्ष्य स्वास्थ्य विभाग की ओर से रखा गया है।

डॉ. सत्येन राय

डॉ. सत्येन राय

जनपद स्तर पर दिया जा रहा है प्रशिक्षण : डॉ. सत्येन

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी (आरसीएच) डॉ. सत्येन राय ने बताया कि “ पुरुष नसबंदी को लेकर जनपद के लोगों में काफी जागरूकता आई है। जो कुछ मिथक हैं उन्हें दूर करने के लिए सारथी वाहन व अन्य माध्यम से क्षेत्र में जागरूकता बढ़ाने पर विशेष ज़ोर दिया जा रहा है। हर ब्लॉक में 10 लोगों की नसबंदी का लक्ष्य रखा गया है। पखवाड़ा को सफल बनाने के लिए परिवार नियोजन विशेषज्ञों के द्वारा जनपद स्तरीय कार्यशाला कराकर आशा-एएनएम को प्रशिक्षित भी किया गया है। जनपद स्तरीय चिकित्सालय के अतिरिक्त फूलपुर, मांडा, यूपीएससी प्रथम दारागंज व क्रियाशील ऑपरेशन थियेटर (ओटी) वाले फर्स्ट रेफरल यूनिट (एफआरयू) अथवा ब्लॉक स्तरीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र (सीएचसी) प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र (पीएचसी) पर पुरुष नसबन्दी के साथ साथ महिला नसबंदी व परिवार नियोजन की सभी सुविधाएं दी जाएंगी। ज्यादा से ज्यादा पुरुष इसका लाभ उठाएं व नसबंदी कराएं।

विनोद सिहं, जिला कार्यक्रम प्रबंधक, NHM

विनोद सिहं, जिला कार्यक्रम प्रबंधक, NHM

जानिए, पुरुष नसबंदी कराने पर मिलेगा 3000 रुपए

एनएचएम के जिला कार्यक्रम प्रबंधक विनोद सिंह ने बताया कि पुरुष नसबंदी एक मामूली सी शल्य क्रिया है। महिला नसबंदी के मुकाबले यह न सिर्फ सरल है बल्कि कारगर भी है। वैवाहिक जीवन इससे और भी सुखमय हो जाता है। पुरुष नसबंदी के बाद किसी भी प्रकार की कमजोरी नहीं होती है। पुरुष नसबंदी के लिए यदि इच्छुक लाभार्थी नसबंदी के लिए राज़ी हो जाता है तो नसबंदी के बाद 3000 रुपये की प्रोत्साहन दी जाती है। महिला को नसबंदी के लिए 2000 रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जाती है।“

यह हैं छह वर्ष के आकंड़ें

जिला परिवार नियोजन एवं सामग्री प्रबंधक सचिन चौरसिया ने बताया कि पुरुष नसबंदी पखवाड़े के दौरान वर्ष 2016 में 52, 2017 में 85 व 2018 में 84 पुरुषों ने नसबंदी कराई थी। वर्ष 2019 में 85 लोगों ने ही नसंबदी कराई। वर्ष 2020 में 113 लोगों ने नसबंदी कराई थी। 2021 में 62 लोगों ने नसबंदी कराई थी। जनपद की समस्त स्वास्थ्य इकाइयों पर प्रचुर मात्र में परिवार नियोजन की सामाग्री उपलब्ध है। इस पखवाड़े के दौरान परिवार नियोजन की अन्य सुविधाएं भी दी जाएंगी। (नोट- यह आंकड़े सीफार संस्था की ओर से उपलब्ध कराए गए हैं।)

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Comment