बदन पर नहीं थे कपड़े, हत्या की आशंका सड़ चुकी थी लाश, बदबू उठी तो पड़ोसियों ने दी सूचना | Woman’s dead body found in doctor’s flat in Prayagraj; There were no clothes on the body, there was a possibility of murder, the dead body was rotten, when the smell arose, the neighbors informed


  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Prayagraj
  • Woman’s Dead Body Found In Doctor’s Flat In Prayagraj; There Were No Clothes On The Body, There Was A Possibility Of Murder, The Dead Body Was Rotten, When The Smell Arose, The Neighbors Informed

प्रयागराज19 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

प्रयागराज के रामबाग चौराहे पर स्थित देवड़ा सदन के दूसरे तल पर डॉ. दीपेंदु मिश्र के फ्लैट में एक महिला की लाश मिलने से सनसनी मच गई। महिला की लाश फूली हुई थी और बदन पर कपड़े नहीं थे। महिला की नेचुरल डेथ हुई या उसकी हत्या हुई? यह सभी सवाल अनुत्तरित है। फिलहाल पुलिस ने बॉडी को पोस्टमार्टम रिपोर्ट के लिए भेज दिया है।

बदबू उठी तो पड़ोसियों ने डॉक्टर को दी सूचना

देवड़ा सदन के नीचे कई दुकानें हैं और दूसरी व तीसरी मंजिल पर 15 फ्लैट हैं। इनमें परिवार रहते हैं। इन्हीं में से एक फ लैट डॉ. प्रीतम नगर निवासी डॉ. दीपेंदु मिश्रा का है। वह इस समय यूनाइटेड मेडिसिटी में कैंसर विभाग के विभागाध्यक्ष हैं और इससे पहले कमला नेहरू अस्पताल में कैंसर के डॉक्टर और सर्जन थे। वहां से रिटायर हो चुके हैं। इधर, दो तीन दिन से फ्लैट में बदबू आ रही थी। बदबू पहले थोड़ी हल्की थी। लोगों ने चूहा मर गया होगा। जब ज्यादा बदबू आने लगी तो लोगों ने छानबीन की। छानबीन में पता चला कि बदबू डॉ. दीपेंद्र के फ्लैट से आ रही है। लोगों ने देखा तो दरवाजा अंदर से बंद था। आवाज लगाने पर जब नहीं खुला तो पड़ोसी ने डॉ. दीपेंदु मिश्रा को फोन किया। बताया कि आपके फ्लैट से बहुत बुरी दुर्गंध आ रही है। डॉ. दीपेंदु आए तो दरवाजा अंदर से बंद था। पुलिस काे सूचना दी गई। एसआई मुदित राय और साउथ मलाका चौकी प्रभारी कृष्ण मुरारी चौरसिया पहुंच गए।

चैनल कटवाकर अंदर घुसे पुलिस वाले तो दंग रह गए

चैनल कटवाकर पुलिस वाले जब अंदर घुसे तो नजारा देखकर दंग रह गए। अंदर कमरे के फर्श पर एक महिला की सड़ी-गली लाश पड़ी थी। उसके बदन पर कपड़े भी नहीं थे। बॉडी काफी फूली थी। इससे आशंका जताई जा रही है कि उसकी कई दिन पहले मौत हो चुकी थी। फोरेंसिक टीम ने पहुंचकर नमूने एकत्र किए हैं। फिंगर प्रिंट्स लिए हैं। फिलहाल पुलिस की पूछताछ में डॉ. दीपेंदु ने बताया कि 8 साल पहले सोनू सिंह ने उस महिला से उनकी मुलाकात कराए थे। महिला कौन है, कहां की रहने वाली थी। यह सब उन्हें नहीं पता। सोनू सिंह की भी डॉक्टर के पास कोई डिटेल नहीं है।

फ्लैट में नहीं है कोई और रास्ता

अब यहां सवाल यह उठता है कि जब फ्लैट में कोई और आने-जाने का रास्ता नहीं है तो फिर उसकी हत्या कौन कर सकता है। यह हत्या है या हादसा? क्या फ्लैट की दो चाबियां थीं। अगर दो चाबियां थीं तो ऐसा संभव है कि महिला की हत्या करने के बाद आरोपी बाहर से फ्लैट बंद कर निकल गया हो। फिलहाल पुलिस सभी पहलुओं पर जांच कर रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत की सही वजह का पता चल सकेगा।

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Comment