सपा और भाजपा में सीधे मुकाबले के आसार, निर्दलीय बिगाड़ सकते हैं खेल | Chances of direct contest between SP and BJP, independents can spoil the game


बलरामपुर25 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

स्थानीय निकाय चुनाव के लिए अध्यक्ष पद के आरक्षण की घोषणा होते ही टिकट मांगने वालों की भागदौड़ तेज हो गई है। अध्यक्ष पद के दावेदार अपने अपने नेताओं की गणेश परिक्रमा शुरू कर दी है। सबसे ज्यादा टिकट के दावेदार भारतीय जनता पार्टी और समाजवादी पार्टी में है।

जिले में नगर पालिका परिषद बलरामपुर व उतरौला नगर पालिका है। जबकि तुलसीपुर, पचपेड़वा, एवं नव सृजित गैसडी को नगर पंचायत का दर्जा मिला है। पिछली बार बलरामपुर सदर, तुलसीपुर एवम पचपेड़वा अध्यक्ष की सीट महिलाओं के लिए आरक्षित थी जबकि उतरौला की सीट आनारिक्षत थी।

बीएसपी और बीजेपी में हुई थी जंग

बलरामपुर नगर पालिका परिषद सीट पर बीएसपी की प्रत्याशी किताब-उन-निशां ने बीजेपी प्रत्याशी को पराजित कर ये सीट समाजवादी पार्टी से छीनी थी। जबकि उतरौला में समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार इदरीश खां उतरौला नगर पालिका के अध्यक्ष बने थे। इसी तरह पचपेड्वा नगर पंचायत की सीट पर निर्दलीय महिला प्रत्याशी समन मलिक चुनाव जीती थीं। इसी तरह तुलसीपुर से निर्दलीय महिला कहकशा फिरोज बीजेपी की दिलीप गुप्ता को हरा कर चुनाव जीती थी।

बीजेपी से कुल 28 आवेदन आ चुके हैं

इस बार के चुनाव में सभी सीटें आनारक्षित घोषित हो जाने के बाद महिलाओं की भागीदारी कम होने की संभावना बढ़ गई है। बल्कि अनारक्षित होने के कारण उम्मीदवारों की संख्या बढ़ने की संभावना भी बढ़ गई है। जिले की सभी सीटें चुनावी गणित बैठने लगे है। अध्यक्ष पद के लिए टिकट सबसे ज्यादा घमासान बीजेपी और समाजवादी पार्टी में मचा हुआ है। बीजेपी में 2 नगर पालिका और 3 नगर पंचायत के लिए अब तक 28 आवेदन आ चुके है। जिसमें बलरामपुर सदर से 5, उतरौला से 4 जबकि तुलसीपुर 6 गैसडी 8 एवम पचपेडवा से 5 शामिल है।

समाजवादी पार्टी से भी मांगने वालों की भीड़

इसी तरह समाजवादी पार्टी में टिकट दावेदारों की बड़ी तादाद है। जिसमें बलरामपुर सदर से 6 उतरौला से 8, तुलसीपुर से 3 गैसडी से 3 एवम पचपेडवा से 8 प्रत्याशी समाजवादी पार्टी से अध्यक्ष के लिए टिकट मांग रहे है। दूसरी तरफ कांग्रेस और बसपा में भी टिकटों के कई दावेदार हैं। लेकिन, अभी ये पार्टियां मीडिया के सामने कुछ भी बोलने से परहेज कर रही है। बीजेपी जिलाध्यक्ष प्रदीप सिंह का टिकट वितरण को लेकर कहना है कि अभी प्रत्याशियों से आवेदन मांगे गए है।

संभावित प्रत्याशी जी तोड़ कोशिश में जुटे

अभी कुछ और आवेदन आने की संभावना है जब सारे आवेदन आ जाएंगे तो टिकट वितरण लिस्ट बनाकर प्रदेश कार्यालय को भेजा जायेगा। सभासद का फैसला जिले स्तर पर किया जायेगा। जबकि नगर पालिका और नगर पंचायत का फैसला ऊपर से होगा। दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी के निवर्तमान जिलाध्यक्ष पी.आर. वर्मा का कहना है कि अध्यक्ष पद के टिकट दावेदारों के आवेदन लिए जा रहे हैं। ऊपर से जो निर्देश मिलेगा उसी आधार पर निर्णय लिया जाएगा। अध्यक्ष पद के लिए आने वाले आवेदनों को प्रदेश कार्यालय भेजा जायेगा जहां से फैसला होगा।

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Comment